उत्तराखण्ड

समस्त तहसील में प्रत्येक दिन 25 प्रमाण पत्र ही पंजीकृत किये जायेंगे!

संक्रमण के दृष्टिगत ई-डिस्ट्रिक्ट केन्द्रों/जनाधार केन्द्रों के माध्यम से निर्गत होने वाले प्रमाण पत्रों की कार्यवाही स्थगित!

समस्त तहसील में प्रत्येक दिन 25 प्रमाण पत्र ही पंजीकृत किये जायेंगे!

देहरादून। अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) बीर सिंह बुदियाल ने अवगत कराया कि कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत ई-डिस्ट्रिक्ट केन्द्रों/जनाधार केन्द्रों के माध्यम से निर्गत होने वाले प्रमाण पत्रों की कार्यवाही स्थगित है। प्रमाण पत्र निर्गत न होने की दशा में आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । समस्या के समाधान/सुनवाई हेतु सामाजिक दूरी को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी की स्वीकृति  के क्रम में मानक परिचालन कार्यविधि (एस.ओ.पी) के साथ ही ई-डिस्ट्रिक्ट केन्द्रों को 02 अगस्त 2020 से प्रारम्भ किया जायेगा। उन्होने बताया कि समस्त तहसील में प्रत्येक दिन 25 प्रमाण पत्र ही पंजीकृत किये जायेंगे तथा केन्द्र के प्रभारी संचालक द्वारा 25 टोकन आमजन को दूरभाष के माध्यम से दिये जायेंगे। ई-डिस्ट्रिक्ट/जनाधार केन्द्रों का संचालन दो शिफ्ट में होगा, प्रातः 10 बजे से 01 बजे तक आवेदन प्राप्त किये जायेंगे एवं 2 बजे से 5 बजे तक प्राप्त आवेदनों का पंजीकरण/निस्तारण किया जायेगा। इस दौरान जनाधार केन्द्रों पर 5 से अधिक व्यक्ति/नागरिक एकत्रित नही होंगे, जनाधार केन्द्र पर आपरेटर को मास्क लगाना अनिवार्य होगा, सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन  सुनिश्चित किया जाय, ई-डिस्ट्रिक्ट केन्द्र पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति के हाथ सेनिटाइज करवाये जाय, यदि किसी क्षेत्र में कन्टेंनमेंट जोन घोषित किया जाता है तो उस क्षेत्र में यह अनुमति स्वतः रद्द मानी जायेगी। इसके अलावा प्रमाण पत्रों के निस्तारण के सम्बन्ध में आवेदकों को दूरभाष से सूचित कर प्रमाण पत्र प्राप्त हेतु तिथि व समय की जानकारी दी जायेगी।

01 व 02 अगस्त 2020 को (शनिवार एवं रविवार) को जनपद देहरादून में तालाबन्दी (लाॅकडाउन) प्रभावी नही रहेगा, किन्तु...

जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने यह भी अवगत कराया है कि कोविड-19 संक्रमण के नियंत्रण हेतु क्रियान्वित तालाबन्दी के सम्बन्ध में उत्तराखण्ड शासन के आदेशो के अन्तर्गत शनिवार एवं रविवार को सम्पूर्ण तालाबन्दी का प्राविधानित किया गया था। शासन द्वारा त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए आगामी शनिवार एवं रविवार (01 व 02 अगस्त 2020) को तालाबन्दी न किये जाने के निर्देश दिये हैं।

जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि शासन के निर्देश 31 जुलाई 2020 के अनुपालन में 01 व 02 अगस्त 2020 को (शनिवार एवं रविवार) को जनपद देहरादून में तालाबन्दी (लाॅकडाउन) प्रभावी नही रहेगा, किन्तु लाॅकडाउन सम्बन्धी शासनादेश की अन्य शर्ते कोविड-19 से सम्बन्धित समस्त दिशा-निर्देश व सामाजिक दूरी बनाये रखने आदि सभी नियम यथावत लागू रहेंगे, जिनका अनुपालन जनसुरक्षा में अनिवार्य होगा। उल्लंघन की स्थिति में आपदा प्रबन्धन अधिनियम एवं महामारी अधिनियम में वर्णित प्राविधानों एवं भारतीय दण्ड संहिता तथा अन्य अधिनियमों की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कार्यवाही की जायेगी।

जिलाधिकारी द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुपालन में आज जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में जिला प्रशासन की टीम द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने पर कुल 26 व्यक्तियों के चालान किये गये, जिनमें सभी चालान मसूरी क्षेत्रान्तर्गत किये गये। इसके अतिरिक्त पुलिस टीम द्वारा जनपद अन्तर्गत सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग न करने पर 435 व्यक्तियों के चालान किये गये।
जिला प्रशासन द्वारा आज जनपद के विभिन्न चयनित स्थानों पर अधिकृत 11 मोबाईल वैन के माध्यम से 102 क्विंटल फल-सब्जियों का विक्रय किया गया। दुग्ध विकास विभाग द्वारा कन्टेंनमेंट जोन क्षेत्रान्तर्गत 46 ली दुध विक्रय किया गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक वायुसेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे 377 प्रवासी व्यक्तियों को स्वास्थ्य जांच उपरान्त जनपद में क्वारेंटीन किया गया है। इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों के 240 व्यक्तियों को गंतव्यों हेतु भेजा गया। विज्ञप्ति जारी किये जाने तक कोठगोदाम से देहरादून रेलवे स्टेशन पर 145 व्यक्ति पंहुचे, इसी प्रकार देहरादून रेलवे स्टेशन से दिल्ली हेतु 306 एवं काठगोदाम हेतु 471 व्यक्ति गये। जनपद में विभिन्न विकासखण्डवार मनरेगा कार्याें के अन्तर्गत आतिथि तक 1882 निर्माण कार्य प्रारम्भ किये गये, जिनमें 2676 श्रमिकों को सैनिटाईजेशन एवं सामाजिक दूरी का अनुपालन करवाते हुए उक्त कार्य में योजित कर रोजगार उपलब्ध कराया गया। कोविड-19 के संक्रमण के दृष्टिगत जिला आपदा कन्ट्रोलरूम में 41 काल प्राप्त हुई, जिनमें 36 काल पास हेतु 1 मेडिकल हेतु एवं 4 काल अन्य हेतु प्राप्त हुई।

आज के कोरोना वाॅरियर

लाॅकडाउन अवधि में शासकीय विभागों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों के दृष्टिगत आज के कोरोना वाॅरियर-
कोरोना वाॅरियर (शासकीय विभाग से), श्री नवल किशोर जोशी, फार्मासिस्ट, क्वारेंटीन सेन्टर देहरादून।
कोविड-19, के अन्तर्गत दिये गये दायित्वों का कुशलपूर्वक निर्वहन कर रहे हैं।

जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने यह भी बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत 28 सैम्पल जाचं हेतु भेजे गये तथा 96 सैम्पल की रिपोर्ट प्राप्त हुई जिनमें 58 सैम्पल पाॅजिटिव आने के फलस्वरूप जनपद में कोरोना पाॅजिटिव संक्रमितों की संख्या 1609 हो गयी है, जिनमें 438 व्यक्ति वर्तमान में उपचाररत् हैं। इसके अतिरिक्त जनपद में आज कुल 661 व्यक्तियों के सैम्पल लिये गये।
आज को-मोर्बिडिटी माॅनिटरिंग और सर्विलांस कन्ट्रोलरूम से को-मोर्बिडिटी अवस्था वाले कुल 13 व्यक्तियों से दूरभाष पर सम्पर्क कर उनके स्वास्थ्य के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी। आशा कार्यकर्तियों द्वारा जनपद देहरादून अन्तर्गत बनाये गये विभिन्न कन्टेंनमेंट जोन में व्यक्तियों की सामुदायिक निगरानी का कार्य किया जा रहा है जिसके अन्तर्गत 1838 व्यक्तियों का फाॅलोअप किया जा चुका है। अन्य राज्यों से जनपद में पंहुचे कुल 600 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण के उपरांत क्वारेंटीन किया गया। आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों द्वारा शहर सहित विकासखण्ड रायपुर एवं सहसपुर क्षेत्रान्तर्गत 75306 व्यक्तियों का सर्विलांस किया गया।
आज विभिन्न चिकित्सालयों/ स्वास्थ्य कार्मिकों को 2000 एन-95 मास्क, 121100 ट्रिपल लेयर मास्क, 50 वीटीएम वायल, 52 सेनिटाइजर, 32050 सर्जिकल गलब्स, 30000 एग्सामिनेशन गलब्स वितरित किये गये। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु समस्त मेडिकल स्टोर पर बिना चिकित्सक के परामर्श की पर्ची के सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयों का विक्रय प्रतिबन्धित किये जाने के उपरान्त समस्त मेडिकल स्टोर स्वामियों द्वारा जनपद में कुल 61 व्यक्तियों को चिकित्सकीय पर्ची के आधार पर सर्दी, खांसी व जुकाम की दवाईयां विक्रय की गयी।

जनसुनवाई में आज कुल 24 शिकायतें/समस्याएं लोगों द्वारा जिला अधिकारी के संज्ञान में आईं

आज जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में जिला कार्यालय में जनसुनवाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। जनसुनवाई में आज कुल 24 शिकायतें/समस्याएं लोगों द्वारा जिला अधिकारी के संज्ञान में लाई गई, जिनमें मुख्य रुप से जमीन पैमाईश, जलभराव, गन्दे पानी की निकासी, भूमि पर कब्जा, कोरल फैक्ट्री खोले जाने, सामग्री भुगतान, भूमि चिन्हाकन, रास्ते का निर्माण, भोपाल जाने हेतु पास, मुआवजा, शस्त्र लाईसेंस, बच्चों को वापस हाॅस्टल आने की अनुमति, जमीन नामांकन, वेतन बढोतरी, आर.सी.की राजस्व धनराशि जमा करने, भूमि विवाद, पट्टे की भूमि पर नाला निर्माण, अतिक्रमण हटाने, पुनः सेवायोजन, आवासीय विद्यालय हेतु भूमि, भू हस्तान्तरण एवं आर्थिक सहायता सम्बन्धी मामले/शिकायते/समस्यांए आम लोगों द्वारा उठाई गई।
जनसुनवाई के दौरान मोथरोवाला के सत्यप्रकाश डबराल ने क्षेत्र में बनी नहर की जमीन की पैमाईश कराये जाने हेतु आवेदन किया, जिस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी को मौका मुआयना करने के निर्देश दिये। निरंजनपुर के रामसुख ने मंदिर के पास जलभराव की समस्या से आवाजाही न होने का मामला उठाया, इस पर अपर जिलाधिकारी को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये गये। डाॅ डी.एस नेगी ने महाराणा प्रताप चैक में गन्दे पानी के रिसाव का मामला उठाया इस पर जिलाधिकारी ने तत्काल क्षेत्र का मौका मुआयना करने का भरोसा दिलाया। दूधली के चिन्तामणी द्वारा अवैध निर्माण की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी डोईवाला को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये। सेलाकुई स्थित कोरल लेब्रोटरी के भूपेन्द्र पटेल ने फैक्ट्री खोलने की मांग की इस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से रिपोर्ट प्राप्त होने पर आवश्यक कार्यवाही करने की बात कही। सोनम श्रीवास्तव ने कलेक्टेªट को कम्प्यूटर, स्केनर आदि की सप्लाई के उपरान्त सामग्री के भुगतान का मामला उठाया, इस पर जिलाधिकारी ने स्मार्ट सिटी परियोजना से धनराशि प्राप्त होते ही भुगतान की कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार कोविद आहूजा द्वारा आईटीबीपी क्षेत्र में भूमि के चिन्हांकन का मामला उठाया, जिस पर उप जिलाधिकारी सदर को मौका मुआयना करने के निर्देश दिये। जनसुनवाई के दौरान पूनम चैहान, दीक्षा चैहान ने भोपाल जाने हेतु पास उपलब्ध कराये जाने की मांग की इस पर जिलाधिकारी ने बताया कि अन्य राज्य जाने हेतु पास निर्गत करने की आवश्यकता नही है। लोअर नेहरूग्राम के ललित प्रसाद सती ने अपने आवास में जलभराव का मामला उठाया इस पर उप जिलाधिकारी सदर  को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। पित्थुवाला निवासी विनायक चैहान ने शस्त्र लाईसेंस दिये जाने का अनुरोध किया इस पर शस्त्र अनुभाग को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये गये। कुनाल सेलाकुई द्वारा पब्लिक स्कूल के छात्रों को वापस हाॅस्टल में बुलाये जाने का मामला उठाया। इस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी विकासनगर से आवश्यक परामर्श करने को कहा। रानीपोखरी निवासी विक्रम सिह ने भूमि के चिन्हिकरण का मामला उठाया, जिस पर जिलाधिकारी ने कोर्ट चलने पर आवश्यक कार्यवाही करने की बात कही। दून अस्पताल  में तैनात सफाई कार्मिकों ने वेतन बढोतरी का मामला उठाया इस पर जिलाधिकारी ने आवश्यक कार्यवाही का भरोसा दिलाते हुए साफ-सफाई कार्य में सहयोग करने को कहा। रामकुमार जायसवाल एवं शंकर जायसवाल ने आर.सी. की राजस्व धनराशि का मामला उठाया इस पर जिलाधिकारी ने गत वर्ष के शराब का राजस्व धनराशि जमा करने के साथ ही अपर जिलाधिकारी वि/रा को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये।झाझरा निवासी पूनम सिंह ने भूमि विवाद की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी विकासनगर को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया, बलिराज के पट्टे की भूमि  पर नाला निर्माण के सम्बन्ध में उप जिलाधिकारी सदर को मौका मुआवना करने के निर्देश दिए। रेनूबाला राना ने अतिक्रमण हटाने की, आशा जखमोला ने पुनः सेवायोजित करने, संदीप चैहान ने जनजाति आवासीय विद्यालय हेतु भूमि दिए जाने, सोमनाथ देहराखास द्वारा भूमि हस्तान्तरण हेतु पुनः स्पष्ट जांच कराने के साथ ही इन्दिरा अरोड़ा ने आर्थिक सहायता व रोजगार उपलब्ध कराने के मामले उठाये जिन पर जिलाधिकारी ने आवश्यक कार्यवाही का भरोसा दिलाया।